Download Image

 Please wait while your url is generating... 3

Please click the download button to start downloading

Download

Barish Shayari In Hindi, Rain Shayari [बारिश शायरी]

By Anni • Last Updated
Barish Shayari In Hindi, Rain Shayari [बारिश शायरी]

Hello Guys, in this post we will share some of our best quotes about the Baarish. best barish shayari (2021) | barish shayari in hindi 140, barish shayari in hindi, barish shayari in hindi 2021, barish shayari, barish shayari 2020, shayari on barish.

Download the Baarish images with quotes and you can easy to download and copy or directly send the Baarish Hindi quotes to social media.

Barish Shayari

कहीं फिसल ना जाओ जरा संभल के रहना,
मौसम बारिश का भी है और मोहब्बत का भी।

मुझे ऐसा ही ज़िन्दगी का एक पल चाहिए,
प्यार से भरी बारिश और संग तू चाहिए।

मोहब्बत तो वो बारिश है,
जिससे छूने की चाहत मैं,
हथेलियां तो गीली हो जाती है,
पर हाथ खाली ही रह जाते है।

तुम्हें बारिश पसंद है मुझे बारिश में तुम,
तुम्हें हँसना पसंद है मुझे हस्ती हुए तुम,
तुम्हें बोलना पसंद है मुझे बोलते हुए तुम,
तुम्हें सब कुछ पसंद है और मुझे बस तुम।

जब भी होगी पहली बारिश, तुमको सामने पायेंगे,
वो बूंदों से भरा चेहरा तुम्हारा हम देख तो पायेंगे।

Barish Shayari In Hindi

तुम भी लौट आओ ना सावन की तरह,
मेरी सूखी हुई जिंदगी में बारिश की तरह।

खयालों मे वही, सपनों मे वही,
लेकीन उनकी यादों हम थे ही नही,
हम जागते रहे दूनिया सोती रही
एक बारिश ही थी,
जो हमारे साथ रोती रही।

कभी बेपनाह बरस पडी, कभी गुम सी है,
यह बारिश भी कुछ – कुछ तुम सी है।

खुद भी रोता है और मुझे भी रुला देता है,
ये बारिश का मौसम उसकी याद दिला देता है।

दूर तक छाए थे बादल और कहीं साया न था,
इस तरह बरसात का मौसम कभी आया न था।

बारिश शायरी

पहली बारिश का नशा ही,
कुछ अलग होता है,
पलको को छूते ही,
सीधा दिल पे असर होता है।

यूँ तो ख़्वाहिशें बहुत थी दिल को बारिशो की,
अबके बरस अश्को से रू-ब-रू इरादे धूल गये।

किया न करो मुझसे इश्क़ की बातें,
बिन बारिश के ही भीग जाती हैं रातें।

मजबूरियाँ ओढ़ के निकलता हूँ घर से आजकल
वरना शौक तो आज भी है बारिशो में भीगने का

Barish Shayari Sad

ख़ुद को इतना भी मत बचाया कर,
बारिश हो तो भीग जाया कर।

मौसम है बारिश का और याद तुम्हारी आती है,
बारिश के हर कतरे से आवाज तुम्हारी आती है।

रहने दो कि अब तुम भी मुझे पढ़ न सकोगे,
बरसात में काग़ज़ की तरह भीग गया हूँ मैं।

बारिश में चलने से एक बात याद आती है,
फिसलने के डर से वो मेरा हाथ थाम लेता था।

ऐ बारिश जरा खुलकर बरस,
ये क्या तमाशा है,
इतनी रिमझिम तो मेरी आँखों से रोज होती है।

Barish Shayari Love

Barish Shayari Sad
Barish Shayari Sad

ये मौसम बारिश का अब पसंद नहीं मुझे,
आंसू ही बहुत हैं मेरे भीग जाने के लिए।

पूछते थे ना कितना प्यार है तुम्हे हमसे,
लो अब गिन लो… बारिश की ये बूँदें।

बारिश सुहानी और मोहब्बत पुरानी,
जब भी मिलती है नई सी लगती है।

जाने क्यू बारिश जब भी होती है,
मेरे अंदर तेरी याद छुप छुप कर रोती है..!

मुझे मालूम है तुमने,
बोहोत बरसाते देखी है,
मगर मेरी इन्हीं,
आँखों से सावन हार जाता है।

2 Line Barish Shayari

Barish Shayari In Hindi
Barish Shayari In Hindi

काश मेरी जिंदगी में कोई ऐसा आता,
मैं बारिश में भी रोता तो वो मेरे आंसू पढ़ जाता।

एक हम हैं जो इश्क़ कि बारिश करते है,
एक वह हैं जो भीगने को तैयार ही नहीं।

Barish Shayari
Barish Shayari

रास्तो में सफ़र करने का 
मज़ा आ जाता है
जब बारिश का सुहाना 
मौसम हो जाता है

Review & Discussion

Comment

Please read our comment policy before submitting your comment. Your email address will not be used or publish anywhere. You will only receive comment notifications if you opt to subscribe below.