Download Image

 Please wait while your url is generating... 3

Please click the download button to start downloading

Download

Nature Shayari In Hindi With Images

By Anni • Last Updated
Nature Shayari In Hindi With Images

In this post, I am going to share the Best & Latest Nature Shayari In Hindi With Images, If you love nature then defiantly you love this post. I am also sharing Nature Shayari Images if you want then click on the download button, Also share on all social media.

Also Read – True Life Status In Hindi

Nature Shayari In Hindi

हरे रंग से उत्पन्न नीला, नीले रंग से धानी;
जल है, तो वन संरक्षित, वन है, तो है पानी.

Nature Shayari In Hindi
Nature Shayari In Hindi

बादल से निकलकर, सोना गिरा पिघल कर;
दुल्हन सी शरमा रही, सहर शाम में ढल कर.

धरती गगन हवा पवन ये सब प्रकृति के फूल हैं,
इनके एहसास ही गुलों की खुशबू और गुलशन का उसूल हैं…

प्रकृति शायरी

Nature Shayari In Hindi
Nature Shayari In Hindi

हर कण से धरा पावन हो जाती;
हर रूह गर दर्पण हो जाती.

एक प्याला भरा रखा, ये नीर है या क्षीर है;
आसमान से उतरा मानो, मन चखने को अधीर है.

क़ुदरत क्या कहती है कैसे,
कहती है क्यों कहती हैं,
ये तो ऊपर वाले की आवाज़ हैं,
जो हमेशा कायम रहती हैं…

Shayari On Nature In Hindi
Shayari On Nature In Hindi

प्रकृति भी सिखाती है जीवन जीने की कला…
सुदृढ़ होकर भी वृक्ष देते हैं लताओं को पनाह…

हर दिशा में है उमंग, खामोशियाँ यहाँ अभंग;
सुनो! कुछ है गा रही, झंकार पर हर एक तरंग.

Shayari On Nature In Hindi

नहीं मिलन है किसी क्षितिज पर, झील से बोला बादल;
आहें मुझ तक अश्रु तुम तक, लाता और ले जाता जल.

Shayari On Nature In Hindi
Shayari On Nature In Hindi

बूझ सको तो जान लो, क्या संकेत है निराला;
हरे रंग में ब्रश घुमाकर कुछ तो है लिख डाला.

आज हम कुछ कर सकते हैं,
इस रोती हुई प्रकृति के आंसू,
हम पोछ सकते हैं,
एक वक्त बाद प्रकृति के,
सारे आंसू सूख जाएंगे।

Shayari In Hindi On Nature
Shayari In Hindi On Nature

शाख से पत्ते गिरे हो, मैं ऐसे भटकना नहीं चाहती हूँ…
मैं अपनी भी जड़ें रखना चाहती हूँ…
हाँ … मैं जमीन से ही सदा जुड़े रहना चाहती हूँ…

Shayari In Hindi On Nature

तुम बचाते हो दो पेड़ों को तो अपना भविष्य बचाओगे…
वहम छोड़ झूठे जीवन का सच में कुछ कर जाओगे…

Shayari In Hindi On Nature
Shayari In Hindi On Nature

इंतजार है एक तेरा… कश्ती पर सवार हो…
समंदर की मस्ती भरी लहरों पर चलें…
सुनो अब चलें उस नीले गगन के तले…

नहीं कैद रहना है मुझे इन चार दिवारों में…
मुझे तो जीना है इस प्रकृति की हवाओं में…

Shayari In Hindi Nature
Shayari In Hindi Nature

कुदरत साथ ना दे तो दुनिया साथ नहीं देती…
मेरी अपनी ही परछाई धूप आने के बाद मिली…

Shayari In Hindi Nature

बादलों के साये में, पर्वतों की बाहों में;
राहतें यही बसती हैं झील की पनाहों में.

Shayari In Hindi Nature
Shayari In Hindi Nature

सभी फूलों का एक साथ खिल जाना…
प्रकृति सिखाती है समझौते में सुकून पाना…

पुस्तक और प्रकृति से बेहतर…
मित्र दुनिया में और कोई नहीं…

मातृत्व भरा व्यवहार और है करुणामयी जिसकी दृष्टि…
ध्यान रखिए उस प्रकृति का खुशहाल रखिए अपनी सृष्टि…

प्रकृति भी सिखाती है जीवन जीने की कला…
सुदृढ़ होकर भी वृक्ष देते हैं लताओं को पनाह…

Review & Discussion

Comment

Please read our comment policy before submitting your comment. Your email address will not be used or publish anywhere. You will only receive comment notifications if you opt to subscribe below.